कर्रेंट अफेयर्स

सी.जी.पी.एस.सी

जॉब अलर्ट

सामान्य ज्ञान

छत्तीसगढ़ अध्यन

छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग का गठन

राजभाषा अधिनियम 28 नवम्बर 2007 के दिन विधानसभा में पास हुआ था छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग उद्देश्य लक्ष्य राज्य के विचारों की परम्परा और राज्य की समग्र भाषायी विवधता के परिरक्षण, प्रचलन और विकास करने तथा इसके लिये भाषायी अध्ययन, अनुसंधान तथा दस्तावेज संकलन, सृजन तथा अनुवाद, संरक्षण, प्रकाशन, सुझाव तथा अनुशंसाओं के माध्यम से छत्तीसगढ़ी पारम्परिक भाषा को बढ़ावा देने हेतु शासन में भाषा के उपयोग को उन्नत बनाने के लिए ‘‘छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग’’ का गठन किया गया है। आयोग के...

छत्तीसगढ़ी जनउला

छत्तीसगढ़ी जनउला 1)    बीच तरिया में टेड़गी रूख । 2)    फाँदे के बेर एक ठन , ढीले के बेर दू ठन । 3)    एक महल के दू दरवाजा, वहाँ से निकले संभू राजा । 4)    ठुड़गा रूख म बुड़गा नाचे । 5)    कारी गाय कलिन्दर खाय, दुहते जाय पनहाते जाय । 6)    कोठा में अब्बड़ अकन छेरी, फेर हागे त लेड़ी नहीं । 7)    अँउर न मँउर, बिन फोकला के चउँर । 8)   नानचून टूरा, कूद-कूद के पार बाँधे । 9)   नानूक टूरा, राजा संग खाय ल बैठे...

छत्तीसगढ़ की विशेष पिछड़ी जनजाति

छत्तीसगढ़ की जनजाति छग में मुख्यत: 5 विशेष पिछड़ी जनजातिया थी जबकि 2012 में छग सरकार द्वारा अधिसूचना जारी करके दो और जनजातियों भूंजिया व पंडो को इस श्रेणी में शामिल किया जिससे इनकी संख्या 7 हो गयी है। छत्तीसगढ़ की विशेष पिछड़ी जनजातियां बैगा- कबीरधाम,बिलासपुर, कोरिया, राजनांदगाव,मुंगेली। 2. पहाड़ी कोरवा- सरगुजा, जशपुर, कोरबा, बलरामपुर। 3. पण्डो- सूरजपुर,बलरामपुर,सरगुजा। 4. कमार- गरियाबंद,धमतरी,महासमुंद,कांकेर। 5. अबूझमाड़िया- नारायणपुर,दंतेवाड़ा,बीजापुर। 6. भुंजिया- गरियाबंद,धमतरी। 7. बिरहोर- रायगढ़,जशपुर, बिलासपुर, कोरबा। केंद्र सरकार द्वारा 1. अबुझमाड़िया अबुझमाड़िया मुख्य रूप से नारायणपुर एवं बीजापुर जिले में निवास करते हैं...

छत्तीसगढ़ की जनजातियों में प्रचलित विवाह पद्धति

छत्तीसगढ़ की जनजातियों में प्रचलित जनजातिय विवाह छत्तीसगढ़ की सभी जनजातियों में इसे सामाजिक स्वीकृति प्राप्त है जो विभिन प्रकार की है। जनजातियों में प्रचलित जनजातिय विवाह 1.पैठुल विवाह  अगरिया जनजाति में इसे ढूकू तथा बैगा जनजाति में पैढू कहा जाता है । बस्तर सँभाग की जनजातियों में यह ज्यादा लोकप्रिय है । इसमें कन्या अपनी पसंद के लड़के के घर घुस जाती है । जिसे लड़के की स्वीकृति पर परिवार के बिरोध के उपराँत भी सामाजिक स्वीकृति मिलती...

छत्तीसगढ़ की जनजाति सामान्य ज्ञान

छत्तीसगढ़ की जनजाति - आज हम छत्तीसगढ़ की जनजाति से सम्बंधित सामान्य जानकारी का अध्यन करेगे जो परीक्षा किद्रिस्ती से महत्व पूर्ण है. जनजातियो के प्रमुख युवागृह धुमकुरिया = उराँव घोटुल = मुडीया गितिओना = बिरहोल घसरवासा = भुईयॉ रंगबंग = भारिया जनजातियो में प्रसिद्ध कृषि पद्धतीया पेद्दा = अबूझमाडीया बेवर = बैगा दहिया = कमार जनजातियो के देवी देवता गोड़ = दूल्हादेव/सलना देवी बैगा = बूढादेव उराव = सरना देवी दसहरा = दंतेस्वरी देवी घोटुल = लिंगोपेन मडई =...

सामान्य अध्यन ( GS )

प्राचीन भारतीय इतिहास के स्रोत

प्राचीन भारतीय इतिहास के स्रोत - Source of Ancient Indian History प्राचीन भारत का इतिहास लिखने में अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है क्योंकि हमारे इतिहास के स्त्रोतों में भौतिक घटनाओं के लेखे-जोखे का महत्त्व अलग से नहीं पहचाना गया है। प्राचीन भारत के साहित्य में आख्यान, धर्मशास्त्र, अर्थशास्त्र एवं वंश-विस्तार आदि अनेक विषयों का समावेश होता है। भारतीय दृष्टिकोण हमेशा से आध्यात्मिक रहा है। फिर भी हमारे पास इतिहास जानने के पर्याप्त साधन हैं। हमारे पास विश्व का सबसे...

प्रागैतिहासिक काल का इतिहास

प्रागैतिहासिक काल (Prehistoric Era) प्रागैतिहासिक काल में मानव सभ्यता का इतिहास वस्तुतः मानव काल के विकास का इतिहास है। मनुष्य का पृथ्वी पर कब और कैसे अवतरण हुआ, यह निश्चित और निर्विवादित रूप में आज भी कहना सम्भव नहीं है। लम्बे समय तक अन्धविश्वास और कल्पना के कोहरे में आवृत्त यह प्रश्न अनुतरित रहा। आधुनिक युग में वैज्ञानिक दृष्टिकोण और वैज्ञानिक आविष्कारों ने प्रकृति के अन्य रहस्यों के उद्घाटन की भाँति मानव के उद्भव और विकास के रहस्यों के उद्घाटन...

FAQ's

Que. सी.जी.पी.एस.सी परीक्षा क्या है ?

Ans - छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के दुवारा ली जाने वाली परीक्षा है। छत्तीसगढ़ का परीक्षा पैटर्न अधिसूचना के साथ प्रकाशित होता है। परीक्षा की तैयारी करने वाले उम्मीदवार सभी चरणों के लिए छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग परीक्षा पैटर्न की जांच कर सकते हैं – प्रीलिम्स और मेन्स। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग परीक्षा पैटर्न 2022 में अन्य खंड, पाठ्यक्रम और विषय शामिल हैं जहां से परीक्षा में प्रश्न पूछे जाएंगे, अंकन योजना और परीक्षा की अवधि छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के दुवारा निर्धारित की जाती है।

Q : छत्तीसगढ़ में कौन कौन सी नदी बहती है ?

Ans : राजिम (जिला गरियाबंद) में महानदी से पैरी और सोंढूर आकर मिलते हैं| शिवरीनारायण (जिला जांजगीर-चांपा) में महानदी से शिवनाथ और जोंक नदी आकर मिलती है| चंद्रपुर (जिला जांजगीर-चांपा) के पास महानदी में मांड और लात नदी आकर मिलती है| राजिम और सिरपुर महानदी के तट पर स्थित धार्मिक पर्यटन स्थल है|

Download our Apps

cgpsc-tyari-google-play-store-app

© 2022 CGPSC Tyari .com