CGPSC क्या है ? CGPSC की तैयरी कैसे करे, CGPSC में सफलता कैसे हासिल करे इत्यादि की पूरी जानकारी  CGPSC Tyari आपको बताएगा

सीजीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न:

1) प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न

  • प्रारंभिक परीक्षा आयोजित करके, मुख्य परीक्षा में बैठने वाले छात्रों का चयन किया जाता है।
  • जिनकी संख्या रिक्तियों की संख्या का 15 गुना है।
  • उदाहरण के लिए, यदि 400 रिक्तियों को भरा जाना है तो मुख्य परीक्षा में बैठने के लिए 15×400=6000 छात्रों का चयन किया जाएगा।
  • प्रारंभिक परीक्षा के अंकों की अंतिम चयन सूची के लिए गणना नहीं की जाएगी।
  • प्रश्न पत्र का प्रकार – प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार का होगा
  • प्रश्न पत्रों की संख्या – प्रारंभिक में दो प्रश्न पत्र होंगे
  • परीक्षा – प्रश्न पत्र 1, प्रश्न पत्र 2, जो एक ही दिन क्रमशः सुबह और शाम आयोजित किए जाते हैं।
  • समय – प्रत्येक प्रश्न पत्र 2 घंटे का होगा
  • विकल्पों की संख्या – प्रत्येक प्रश्न में 4 नए विकल्प होंगे जिनमें से केवल एक ही सही होगा।
  • नकारात्मक अंकन प्रावधान – प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 (एक तिहाई) अंक काटा जाएगा
  • न्यूनतम अर्हक अंक- अनारक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए प्रत्येक प्रश्न पत्र में न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक और आरक्षित वर्ग और विकलांग उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम 23 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा। उम्मीदवारों का चयन मेरिट के आधार पर मुख्य परीक्षा के लिए किया जाएगा।
  • सीजीपीएससी 2017 से, सीसैट को क्वालीफाइंग (केवल क्वालीफाइंग परीक्षा) बनाया गया है, इसलिए मुख्य परीक्षा के लिए उम्मीदवारों का चयन केवल प्रश्न पत्र 1 (सामान्य ज्ञान) के आधार पर किया जाएगा।

2) CGPSC प्रारंभिक परीक्षा का पेपर -1(GS) 

पहला प्रश्न पत्र (जीएस 1):

  • कुल प्रश्न – 100, कुल अंक 200, समय 2 घंटे
  • प्रश्न पत्र दो भागों में होगा – भाग 1, भाग 2।
  • प्रत्येक भाग से 50 प्रश्न होंगे
  • प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 अंक काटे जाएंगे

भाग 1 – सामान्य अध्ययन (50 प्रश्न )

1. भारत का इतिहास और भारत का स्वतंत्रता आंदोलन।
2. भारत का भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल।
3. भारत का संविधान और राजनीति।
4. भारत की अर्थव्यवस्था।
5. सामान्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी।
6. भारतीय दर्शन, कला, साहित्य और संस्कृति।
7. वर्तमान घटनाक्रम और खेल।
8. पर्यावरण।

भाग 2 – छत्तीसगढ़ का सामान्य ज्ञान (50 प्रश्न)

1. स्वतंत्रता आंदोलन में छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ का इतिहास
योगदान ।
2. छत्तीसगढ़ का भूगोल, जलवायु, भौतिक स्थिति, जनगणना, पुरातत्व
और पर्यटन केंद्र।
3. छत्तीसगढ़ का साहित्य, संगीत, नृत्य, कला और संस्कृति, जनुला,
मुहावरे, भजन और कहावतें
4. छत्तीसगढ़ की जनजातियां, विशेष परंपराएं, तीज और त्यौहार।
5. छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था, वन और कृषि।
6. प्रशासनिक संरचना, स्थानीय सरकार और छत्तीसगढ़ की पंचायती राज।
7. छत्तीसगढ़ में उद्योग, ऊर्जा, जल और खनिज संसाधन।
8. छत्तीसगढ़ की समसामयिक घटनाएं।

3) CGPSC प्रारंभिक परीक्षा – पेपर-2 (C-SAT)

दूसरा प्रश्न पत्र (CSAT)

  • कुल प्रश्न – 100, कुल अंक 200, समय 2 घंटे
  • प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक दिए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 अंक काटे जाएंगे

1. संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल।
2. तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता।
3. निर्णय लेना और समस्या का समाधान करना।
4. सामान्य मानसिक क्षमता।
5. बुनियादी संख्यात्मक कार्य (सामान्य गणितीय कौशल) (स्तर-कक्षा X),
डेटा की व्याख्या (चार्ट, ग्राफ़, टेबल, डेटा की पर्याप्तता)
आदि (स्तर-कक्षा X)।
6. हिंदी भाषा का ज्ञान (स्तर-दसवीं कक्षा)।
7. छत्तीसगढ़ी भाषा का ज्ञान।

नोट

  • हिंदी भाषा ज्ञान और छत्तीसगढ़ी भाषा से संबंधित प्रश्न उसी भाषा में उनका अनुवाद उपलब्ध नहीं होगा।
  • 2017 से CSAT को केवल एक योग्यता परीक्षा बना दिया गया है।

 

प्रारंभिक परीक्षा अध्ययन स्रोत

4) प्रारंभिक परीक्षा के लिए उचित अध्ययन स्रोत

प्रश्न पत्र-1 (भाग 1)

  1. भारतीय प्राचीन इतिहास – पुराना एनसीईआरटी आरएस शर्मा।
  2. भारतीय मध्यकालीन इतिहास – पुराना एनसीईआरटी सतीश चंद्र
  3. भारतीय आधुनिक इतिहास – पुराना एनसीईआरटी विपिन चंद्रा स्पेक्ट्रम, राजीव अहीर
  4. भारतीय राजनीति – लक्ष्मीकांत
  5. भारतीय अर्थव्यवस्था – रमेश सिंह
  6. भारतीय भूगोल – नई एनसीईआरटी 6-12वीं
  7. विज्ञान और तकनीक-नई एनसीईआरटी
  8. पर्यावरण – दृष्टि पुस्तक

प्रश्न पत्र-1 (भाग 2)

  1. छत्तीसगढ़ ग्रेटर रेफरेंस – उपकार प्रकाशन या
  2. छत्तीसगढ़ संपूर्ण अध्ययन – मुस्कान प्रकाशन

प्रश्न पत्र-2 (सी-सैट)

  1. अंकगणित एसडी यादव शारदा प्रकाशन या
  2. अंकगणित आरएस अग्रवाल

5) पुराने वर्षों के प्रश्न पत्रों का विश्लेषण

  • ध्यान से सीखें
  • उचित रणनीति बनाने के लिए यह एक आवश्यक प्रक्रिया है।
  • तैयारी शुरू करने से पहले आपको पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को ध्यान से पढ़ना चाहिए।
  • जहां तक ​​संभव हो उन प्रश्नों को याद रखना चाहिए।
  • इससे आपको कई लाभ मिलेंगे।
  • प्रश्न पूछने का तरीका जानें।
  • जब आप किसी भी विषय के किसी भी चैप्टर का अध्ययन कर रहे होते हैं तो आप अच्छी तरह जानते हैं कि यहां से किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।

6) प्रारंभिक परीक्षा में सफलता के लिए सही मार्गदर्शन और रणनीति

  • प्रारंभिक परीक्षा की विस्तृत रणनीति के लिए यहां देखें  Click Here

7) सटीक प्रारंभिक टेस्ट सीरीज

 

  • पूरा अध्ययन करने के बाद अभ्यास के रूप में आत्म-मूल्यांकन बहुत महत्वपूर्ण है।