छत्तीसगढ़ का परिचय 

भारत के 26 वें राज्य छत्तीसगढ़ का प्राचीन संदर्भो में छत्तीसगढ़ के नाम से उल्लेख नहीं मिलता . प्राचीन काल में इस क्षेत्र को दक्षिण कोशल के नाम से जाना जाता था। उल्लेख ‘रामायण‘ और ‘महाभारत‘।यहां राज्य करने वाले प्रमुख स्थानी राजवंशों में वाकाटकों की एक शाखा के साथ नल, राजर्षितुल्य, शरभपुरी, पाण्डु, बाण, नागवंशी और सोमवंश प्रमुख हैं। नलवंश का अपने समकालीन वाकाटक के साथ लंबा संघर्ष चला।

कलचुरी शासको ने सबसे अधिक वर्ष 875 ई. से 1741 ई. तक शासन किया। 1741 ई. से 1854 ई. तक मराठा शासन था “छत्तीसगढ़” मराठा साम्राज्य के समय के दौरान लोकप्रिय था और सबसे पहले आधिकारिक दस्तावेज में छत्तीसगढ़ शब्द का इस्तेमाल 1795 ई. में किया गया था। 1854 ई. से अंग्रेजो का शासन एवं राजधानी रायपुर बनाया गया । 1905 ई. में संभलपुर बंगाल में चला गया और सुरगुजा छत्तीसगढ़ का हिस्सा बन गया। 1 नवम्बर 2000 ई. में मध्यप्रदेश से विभाजित होकर छत्तीसगढ़ भारत का 26 वाँ राज्य बना।

1973 गजेटियर में 36 गढ़ो की स्तिथि बताइ गई।

छत्तीसगढ़ नाम का उल्लेख

छत्तीसगढ़ शब्द का प्रथम प्रयोग वर्ष 1487 ई. में चारण कवी दलराम राव ने किया था।

रचना की पंक्ति :

लछ्मी निधि राय सुनो चित्त दे, गढ़ छत्तीस में न गढ़ैया रही

Note:- लछ्मीनिधि खैरागढ़ के राजा थे।

छत्तीसगढ़ शब्द का द्वितीय एवं राजनितिक संदर्भो में प्रथम प्रयोग वर्ष 1746 ई. में रतनपुर के राजा राजसिंहदेव ( 1689ई. – 1712 ई. ) के दरबारी कवी गोपाल मिश्र ने अपनी रचना ‘खूब तमाशा’ में किया था। उन्होंने इस छेत्र को ‘छत्तीसगढ़’ नाम से सम्बोधित किया था।

छत्तीसगढ़ का नामकरण

छत्तीसगढ़ के नामकारण के बारे में  लोगों का अलग अलग मत है जो निचे बताया जा रहा है .

  • बेलगर के अनुसार जरासंघ के काल में 36 चर्मकार  परिवार ने जरासंघ के राज्य से पृथक होकर नए राज्य का स्थापना किया और ये छत्तीस  घर कहलाया और बाद में ये छत्तीसगढ़ के नाम से जाना गया .
  • हीरालाल के अनुसार कलचुरी वंश जो चेदी वंशी कहलाते थे के नाम पर  श्रेत्र चेदिश्गढ़ कहलाया बाद में यही नाम छत्तीसगढ़ हो गया .
  • छत्तीसगढ़ का नाम यहाँ स्थापित 36 गढ़ों या किलों के नाम पर हुआ है

छत्तीसगढ़ का इतिहास

  • मध्य प्रदेश से बनाया गया यह राज्य भारतीय संघ के 26 वें राज्य के रूप में 1 नवंबर, 2000 को पूर्ण अस्तित्व में आया।
  • प्राचीन काल में इस क्षेत्र को ‘दक्षिण कोशल’ के नाम से जाना जाता था।
  • इस क्षेत्र का उल्लेख रामायण और महाभारत में भी मिलता है।
  • छठी और बारहवीं शताब्दियों के बीच सरभपूरिया, पांडुवंशी, सोमवंशी, कलचुरीऔर नागवंशी शासकों ने इस क्षेत्र पर शासन किया।
  • कलचुरी और नागावंशी शासकों ने इस क्षेत्र पर शासन किया कलचुरियों ने छत्तीसगढ़ पर सन् 980 से लेकर 1791 तक राज किया सन् 1854 में अंग्रेज़ों के आक्रमण के बाद महत्त्व बढ़ गया सन् 1904 में संबलपुर उड़ीसा में चला गया और ‘सरगुजा‘ रियासत बंगाल से छत्तीसगढ़ के पास आ गई।
  • छत्तीसगढ़ पूर्व में दक्षिणी झारखण्ड और उड़ीसा से, पश्चिम में मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र से, उत्तर में उत्तर प्रदेश और पश्चिमी झारखण्ड और दक्षिण में आंध्र प्रदेश से घिरा है।
  • छत्तीसगढ़ क्षेत्रफल के हिसाब से देश का नौवां बड़ा राज्य है और जनसंख्या की दृष्टि से इसका 17वां स्थान है।

आधुनिक छत्तीसगढ़

  • 1941 ई. की जनगणना में छत्तीसगढ़ क्षेत्र बिहार के साथ था ।
  • 1951 ई. की जनगणना में छत्तीसगढ़ क्षेत्र सीपीएंड बरार के साथ था।
  • सन्1956 ई. में जब भाषायी आधार पर राज्यों का निर्माण हुआ तब छत्तीसगढ़ी बोली को आधार मानते हुए अलग राज्य बनाने की मांग तत्कालीन विधायक ठाकुर रामकृष्ण सिंह ने विधानसभा में की थी।
  • सन् 1920 ई. में पं. सुंदरलाल शर्मा द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य की कल्पना।
  • सन् 1924 ई. में श्री वामनराव लाखे द्वारा छत्तीसगढ़ के लिए पृथक कांग्रेस कमेटी की मांग।
  • सन् 1966 ई. में डा. खूबचंद बघेल की अध्यक्षता में भातृसंघ की स्थापना और छत्तीसगढ़ काव्य पाठ के माध्यम से जनजागरण अभियान।
  • सन् 1993 ई. में कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र में उल्लेख।
  • 18 मार्च 1994 ई.  को मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में पृथक छत्तीसगढ़ विषयक शासकीय संकल्प प्रस्तुत और सर्वसम्मति से पारित।
  • 25 मार्च 1998 ई. को लोकसभा चुनाव के पश्चात् दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन में राष्ट्रपति के अभिभाषण में पृथक छत्तीसगढ़ राज्य गठन का उल्लेख।
  • 1 मई  1998 ई. को मध्यप्रदेश विधानसभा में पृथक छत्तीसगढ़ राज्य गठन विषयक संकल्प पारित।
  • सन् 1998 ई. के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस तथा भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र में उल्लेख।
  • तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी द्वारा एक आम सभा में घोषणा कि यदि भाजपा सभी ११ लोकसभा क्षेत्रों में विजयी हुई तो राज्य निर्माण।
  • 25 जुलाई 2000 ई. को लोकसभा में ३ नये राज्यों के गठन हेतु विधेयक।
  • 25 जुलाई 200 ई. को तत्कालीन गृह मंत्री श्री लालकृष्ण आडवानी द्वारा लोकसभा में छत्तीसगढ़ संशोधन विधेयक 2000 प्रस्तुत।
  • 31 जुलाई 2000 ई. को लोकसभा द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य गठन विधेयक पारित।
  • 9 अगस्त 2000 ई. को राज्य सभा द्वारा राज्य सभा सदस्यों की संख्या यथावत रखने के संशोधन के साथ विधेयक पारित। लोकसभा तथा राज्य सभा द्वारा पारित विधेयक राष्ट्रपति की स्वीकृति हेतु प्रेषित।
  • 28अगस्त 2000  ई.को राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षर तथा भारत सरकार के राजपत्र में अधिनियम संख्या 28 के रूप में अधिसूचित।

FAQ

Q : छत्तीसगढ़ का स्थापना कब हुआ है?

Ans : छत्तीसगढ़ राज्य का उदय 1 नवंबर 2000 को मध्य प्रदेश से हुआ था।

Q : छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा जिला कौन सा है?

Ans : छत्तीसगढ़ राज्य का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला सरगुजा (39,114 वर्ग किमी।) है।

Q : छत्तीसगढ़ का सबसे छोटा जिला कौन सा है?

Ans : छत्तीसगढ़ का सबसे छोटा जिला का नाम दुर्ग जिला है जिसका क्षेत्रफल 8,537 वर्ग किमी है।

Q : छत्तीसगढ़ में कितने राजा थे?

Ans : छत्तीसगढ़ में कभी 14 रजवाड़े और लगभग 36 जमींदारियां हुआ करती थीं। 1818 में अंग्रेजों ने रतनपुर से राजधानी रायपुर में स्थानांतरित की। 1853 में नागपुर के राजा रघुजी भोंसले की मृत्यु के बाद 1854 में राजधानी रायपुर सहित छत्तीसगढ़ भी अंग्रेजों की सत्ता में शामिल हो गया।

Q : हमारे छत्तीसगढ़ में कितने जिले?

Ans : छत्तीसगढ़ में कुल 27 जिले है, सामान्यतया हर जिले का मुख्यालय उसी जिले में होता है, सिर्फ कुछ जिले के मुख्यालय अलग है, जैसे सुरगुजा का मुख्यालय अंबिकापुर, कोरिया का बैकुंठपुर, बस्तर का जगदलपुर तथा जंजघर-चंपा का नैला जांजगीर है, क्षेत्रफल में सबसे बड़ा जिला सुरगुजा है, और जनसँख्या में सबसे बड़ा जिला रायपुर है।

Q : छत्तीसगढ़ का 28 वा जिला कौन सा है?

Ans : 25 साल की मांग पूरी, बिलासपुर का 5वां हिस्सा टूटकर बन जाएगा छत्तीसगढ़ का 28वां जिला बिलासपुर. स्वतंत्रता दिवस समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा के साथ ही पेंड्रा इलाके को जिला बनाने की 25 साल पुरानी मांग पूरी हो गई है।

Q : 2021 में छत्तीसगढ़ में कितने जिले हैं?

Ans : 15 अगस्त 2021 को चार और नए जिलोंमनेंद्रगढ़, मानपुर-मोहला, शक्ति और सारंगढ़-बिलाईगढ़ की घोषणा की गई थी।